सांचौर में मिलावट खोरों ने जोखिम में डाली जान, जालोर में भी चल रहा मिलावट का कारोबार

सांचौर में मिलावट खोरों ने जोखिम में डाली जान, जालोर में भी चल रहा मिलावट का कारोबार
Spread the love


  • विभाग की नींद से जोखिम में लोगों की जान, बिक रहा मिलावटी खाद्य सामग्री और मिठाई

जालोर. सांचौर में मिठाई की एक दुकान पर घटिया और मिलावटी मिठाई की बिकवाली ने दर्जनभर लोगों की जान जोखिम में डाल दी। फूड प्वाइजनिंग के बाद इन लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। मामला इसलिए भी गंभीर है कि मुख्यमंत्री ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को विस्तृत करने की घोषणा बजट में की थी, लेकिन हालात विकट है।

सीधे तौर पर यह खतरे का बड़ा संकेत है। दूसरी तरफ जालोर शहर की ही बात करें तो यहां पर भी मिलावटी और घटिया मिठाई की बिकवाली से इनकार नहीं किया जा सकता। होली के त्योहार पर मिलावट का यह कारोबार परवान पर होगा। शहर में कुछेक दुकानों को छोड़ दें तो शेष पर ऐसे ही हालात है यहां घटिया सामग्री का उपयोग हो रहा है। सीधे तौर पर इन दुकानों पर मिलावटी खाद्य सामग्री से मानव स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसे में विशेष अभियान के तहत इन सभी मिठाई दुकानों पर खाद्य पदार्थों की बड़े स्तर पर सेंपलिंग जरुरी है।

ये बड़ी बेपरवाही, जान भी ले सकती थी

सांचौर शहर के श्रीराम कॉलोनी में रहने वाले परिवार की एक बालिका की गुरूवार रात को बर्थ डे पार्टी थी। जिस पर परिवार के लोगों ने शहर के इंद्रा चौक स्थित सोहन स्वीट होम से मिठाई खरीदी थी। बर्थ-डे पार्टी के दौरान महिलाओं व बच्चों के मिठाई का सेवन करने के बाद रात में उन्हें उल्टी, दस्त व चक्कर आने शुरू हो गए। वहीं कुछ बच्चे बेहोश हो गए।

इस दौरान परिजनों ने आनन-फानन में सभी बीमार हुए 15 लोगों को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। इनमें से कुछ की स्थिति गंभीर होने पर उन्हें भर्ती किया गया। वहीं शेष को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। मरीजों का इलाज कर रहे चिकित्सक ने बताया मिठाई के सेवन के बाद फूड पॉइजनिंग की वजह से उल्टी-दस्त की शिकायत होने पर मरीजों को इलाज के लिए भर्ती करना पड़ा।

अधिकारी करते हैं आराम, बिकवाल करते हैं मनमर्जी

त्योहारी सीजन से पहले ही मिलावट के कारोबार का यह बड़ा संकेत देखने को मिल रहा है। मिलावट की शिकायतें स्वास्थ्य विभाग को अक्सर मिलती रहती है, लेकिन अधिकारी नींद में है और बिकवाल मानव स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने के साथ मनमर्जी कर रहे हैं।

क्यों नहीं लेते हैं सेंपल

सांचौर में मिठाई की दुकान पर मिठाई के सेवन से बीमार होने के बाद संबंधित दुकान पर प्रशासन ने कोई कार्यवाही तक नहीं की। इधर, विभागीय लापरवाही भी देखने को मिल रही है। जालोर जिला मुख्यालय पर भी मिठाई के कारोबार में मनमर्जी हावी है, जिसकी जांच विभागीय स्तर पर नहीं की जा रही।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.