आखिर इसलिए बंद करवाना पड़ा नर्मदा परियोजना में पानी

Spread the love


  • – नर्मदा का पानी करवाया बंद, छह दिन बाद भी नहर से नहीं मिला शव

जालोर. चितलवाना थाना क्षेत्र के रणोदर गांव की सरहद में एक युवक का शव नहर के साइफन में अटक जाने से नहीं मिला है। वहीं परिजन भी सप्ताहभर से नहर के किनारे डेरा डाले बैठे हैं। नर्मदा विभाग की ओर से नहर में पानी की सप्लाई बंद करवाने के बाद अब साइफन को खाली करवाया जा रहा है। मामले में गोलियार (बाड़मेर) निवासी जीवाराम (23) पुत्र घमड़ाराम भील कारीगरी के काम से मैलावास से 8 मार्च की रात रणोदर सरहद में पहुंचा था।

यहां साइफन पर नहर के किनारे शर्ट, मोबाइल व पर्स रखकर वह नहर में कूद गया। जिसके बाद नहर के पास के किसानों ने उसका शव साइफन में अटका हुआ देखा। उसके बाद से लेकर शव की तलाश की जा रही है, लेकिन छह दिन बाद भी शव नहीं मिल पाया है। ऐसे में जोधपुर एनडीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया है, जो शव की खोजबीन कर रही है। रणोदर सरहद में नहर के साइफन में शव अटक जाने के बाद में पुलिस व नर्मदा विभाग की ओर से गुजरात से नहर में पानी की सप्लाई कम करवाकर अन्य वितरिकाओं में पानी छोड़ा जा रहा है। ।

मामले में पुलिस का कहना है कि नर्मदा नहर में छह दिन से खोजबीन के बावजूद शव नहीं मिला है। नर्मदा विभाग की ओर से गुजरात से पानी कम करवाकर साइफन में पानी बंद करवा दिया है। मोटरों से साइफन खाली करवाने पर ही शव मिल पाएगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.