जालोर में यहां दो माह पूर्व हुई थी मौत, अब दफनाए शव को इसलिए बाहर निकाला

जालोर में यहां दो माह पूर्व हुई थी मौत, अब दफनाए शव को इसलिए बाहर निकाला
Spread the love


– करड़ा थाना क्षेत्र का मामला, 2 फरवरी को हुई थी मौत तब कर दिया था अंतिम संस्कार

जालोर. करड़ा थाना क्षेत्र में करीब दो माह पूर्व मौत होने के बाद दफनाए गए शव को बाहर निकालने के साथ उसका पोस्टमार्टम करवाया गया है। मामला चौंकाने वाला और चर्चित है। मामले में पाडावी निवासी 35 वर्षीय धीराराम की मौत हो गई थी। उस समय मौत का कारण करंट लगना बताया गया था। लेकिन बाद परिजनों ने शक के आधार पर परिवाद पेश किया, जिस पर यह पूरी कार्रवाई की गई।

मामले में गठित विशेष मेडिकल टीम द्वारा पोस्टमार्टम करवाया गया। मामला इसलिए चर्चित है कि पाडावी गांव में धीराराम की 2 फरवरी को मौत हो गई थी। जिसका प्रारंभिक कारण करंट लगना बताया गया था। जिस पर परिजनों ने सामाजिक रिवाज के अनुसार उसके शव को दफना दिया था। लेकिन इस बीच कई तरह की चर्चा के बाद परिजनों को हत्या की आशंका लगी, जिस पर उन्होंने 24 फरवरी को एसडीएम रानीवाड़ा को मामले में शक जाहिर करते हुए पुन: पोस्टमार्टम की मांग की।

परिवार के परिवाद के बाद बुधवार को एसडीएम और पुलिस की मौजूदगी में शव को पोस्टमार्टम के लिए पुन: बाहर निकाला। जिसके बाद गठित विशेष टीम ने पुन: पीएम करने के साथ जांच के लिए सेंपल लिए। अब मेडिकल जांच के साथ साथ एफएसएल जांच रिपोर्ट पर प्रकरण की स्थिति की जानकारी लग पाएगी।

मौके पर ही पीएम और सेंपल और फिर दफनाया

यह सामाजिक बंधन और भावनाओं से जुड़ा प्रकरण था, लेकिन चूंकि परिवार जनों ने ही इस मामले में शव के पोस्टमार्टम की मांग की थी, जिस पर एसडीएम ने दफनाए गए शव को बाहर निकालने और पुन: पीएम के लिए अनुमति जारी की। शव का मौके पर ही पोस्टमार्टम करने के बाद पुन: उसे वहीं दफना दिया गया। यह प्रकरण दिनभर ेसोशल मीडिया पर भी छाया रहा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.