सड़क निर्माण के लिए नीम के पेड़ उखाड़ फैंक दिए खेतों में, फसलों में नुकसान से किसानों ने रुकवाया काम

सड़क निर्माण के लिए नीम के पेड़ उखाड़ फैंक दिए खेतों में, फसलों में नुकसान से किसानों ने रुकवाया काम
Spread the love


  • आक्रोशित किसानों ने सड़क निर्माण का काम रुकवाया

  • मोदरा से बाकरारोड पेट्रोल पम्प तक बननी है सड़क

  • जेसीबी से नीम के पेड़ उखाड़कर फैंक दिए खेतों में, जिससे खेतों में खड़ी गेंहू, अरण्डी समेत कई फसलें हुई खराब

जालोर

मोदरा से बाकरारोड पेट्रोल पम्प तक सड़क निर्माण के लिए सोमवार को ठेकेदार ने कार्य शुरु किया। इस दौरान सड़क किनारे सफाई के लिए जेसीबी से काम शुरू किया। जेसीबी चालक ने लापरवाही बरतते हुए सड़क से दूर खड़े नीम के बड़े वृक्षों को उखाड़ दिया। जेसीबी चालक की लापरवाही यहां तक भी नहीं रुकी वो इन उखाड़े हुए नीम के पेड़ों को खेतों में फैंक दिया साथ ही खेतों की बाड़ को भी अंदर तक धकेल दिया। इसके चलते खेतों में खड़ी फसल चौपट हो गई। जानकारी मिलने पर खेत मालिक मौके पर पहुंचे और काम रुकवा दिया।

मोदरा से बाकरारोड पेट्रोल पम्प सड़क निर्माण को लेकर उखाड़े गए नीम के पेड़।

 

 

देखते ही देखते किसान भुबाराम मेघवाल, अर्जुनलाल हीरागर, मादाराम मेघवाल, सांवलाराम हीरागर, भूराराम मेघवाल, गणेशाराम मेघवाल, पुखराज माली, मीठाराम माली, जोगाराम मेघवाल, बगाराम हीरागर समेत कई किसान मौके पर पहुंच गए और नीम उखाड़ने व फसल खराब करने को लेकर विरोध किया।

जिससे सड़क निर्माण का कार्य रोकना पड़ा। ग्रामीणों ने इसको लेकर अधिकारियों से भी बात की लेकिन शाम तक कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। किसानों ने बताया कि हमारी फसल तो खराब कर दी, साथ ही खेत की बाड़ को भी तोड़ दिया, जिससे रात के समय लावारिस पशु भी हमारी फसल को नुकसान पहुंचा सकते है। ऐसे में किसानों के सामने एक और बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। उन्होंने बताया कि हमने अधिकारियों से भी सम्पर्क किया, लेकिन कोई संतोषप्रद जवाब नहीं मिला और ना ही कोई अधिकारी मौके पर पहुंचा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.