भीनमाल में आबकारी विभाग ऐसे निभा रहा जिम्मेदारी, देर रात खुले रहते हैं ठेके

भीनमाल में आबकारी विभाग ऐसे निभा रहा जिम्मेदारी, देर रात खुले रहते हैं ठेके
Spread the love


REPORT: VARUN SHARMA

– भीनमाल के मुख्य चौराहे पर जसवंतपुरा तिराहे पर स्थित शराब की दुकान देर रात तक खुली रहती है परोसी जाती है शराब

भीनमाल. भीनमाल में मनमर्जी से शराब बेच रहे शराब ठेकेदारों पर विभागीय अधिकारी इस कदर मेहरबान है कि रातभर यहां शराब के ठेके खुले रहते हैं। वहीं 8 बजे से 10 बजे तक तो यहां मेले सा माहौल रहता है। इस संबंध में स्थानीय आबकारी निरीक्षक तक को कई बार शिकायत हो चुकी है, लेकिन उन्होंने कार्रवाई तो छोड़ें जांच करना भी उचित नहीं समझा।

सीधे तौर पर विभागीय मेहरबानी का असर ठेकेदारों की मनमर्जी के रूप में देखने को मिल रहा है। यहां सवेरे 9 बजे से ही शराब बिकवाली का दौर शुरू हो जाता है और दोपहर होते होते तो शराब के ठेके बार का रूप ले लेते हैं।

ठेके के अंदर ही नहीं आस पास भी जमघट लगा रहता है। जिन्हें रोकने वाला कोई नहीं। यह स्थिति यहां से गुजरने वाले राहगीरों और महिलाओं के लिए परेशानी का कारण बनती है। क्योंकि यह परिवहन विभाग, जसवंतपुरा, करड़ा, रानीवाड़ा और सांचौर होते हुए गुजरात तक पहुंचने का मुख्य रास्ता भी है।

50 से 100 रुपए तक ओवररेट

हालांकि इस बार सरकार ने ठेकेदारों की मनमर्जी पर नकेल कसने के लिए कई प्लान तैयार किए, लेकिन ये प्लान हकीकत में साकार नहीं हो पाए हैं। भीनमाल शहर की बात करें तो दिन में भी निर्धारित दर से 20 से 30 रुपए प्रति शराब की बोतल अधिक वसूले जा रहे हैं। दूसरी तरफ रात में तो शराब बिकवालों की पौ बारह हो जाती है। रात में तो 50 से 100 रुपए तक अधिक वसूली हो रही है।

आबकारी थाना इधर, लेकिन पता नहीं जिम्मेदार किधर

भीनमाल के जसंवतपुरा रोड पर ही आबकारी थाना है। यह थाना अवैध शराब बिकवालों और देर रात मनमर्जी से शराब बेचने वालों पर कार्रवाई के लिए जिम्मेदार है। लेकिन सांठ गांठ का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि सभी जिम्मेदार अधिकारी व कारिंदे इसी मार्ग से गुजरने के बाद भी इन अवैधियों और मनमर्जी से शराब बेचने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.