जालोर : जिले में मिले 24 नए कोरोना संक्रमित, दुकानें रात्रि 10 से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगी, पढ़ें पूरी गाइडलाइन

जालोर : जिले में मिले 24 नए कोरोना संक्रमित, दुकानें रात्रि 10 से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगी, पढ़ें पूरी गाइडलाइन
Spread the love


  • जिले में अभी कोरोना संक्रमित के 137 एक्टिव केस है

  • जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक ने की आमजन से कोरोना गाइडलाइन पालना की अपील

जालोर

जिले में मंगलवार को 24 नए व्यक्ति कोरोना से संक्रमित पाए गए है, जिनमें से ज्यादा जालोर शहर से 14 नए संक्रमित मिले है। वहीं सोमवार को जालोर जिले में 33 नए संक्रमित मिले थे।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जी.एस.देवल ने बताया कि मंगलवार को जिले में 4 हरमू, 1 खरल, 1 डांगरा, 1 चोराउ, 1 रामा, 1 आईपुरा, 1 लेटा एवं 14 जालोर शहर में कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति पाए गए है।

जिले में कोरोना पॉजीटिव की संख्या 5957 हो गई है। इनमें से 5763 स्वस्थ हो चुके है। विभाग की ओर से अब तक 2 लाख 9 हजार 628 सैम्पलों की जांच की गई है, जिनमें से 2 लाख 2 हजार 773 की रिपोर्ट नगेटिव प्राप्त हुई है। जिले में एक्टिव केस 137 है।

8 हजार से अधिक ने लगवाया कोरोना का टीका

चिकित्सा विभाग के कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत मंगलवार को जिले में 8 हजार 11 लोगों को कोरोना वायरस से बचाव का टीका लगाया गया। 45 साल से अधिक आयु तथा गंभीर बीमारियों से पीडित व्यक्तियों ने उत्साह से टीका लगाया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ गजेन्द्र सिंह देवल ने बताया कि जिले में चल रहे टीकाकरण अभियान के तहत मंगलवार को 3 बजे तक 8 हजार 11 लोगों को कोविड 19 टीका लगाया गया। उन्होंने बताया कि जिले में मंगलवार को 6 हजार 769 व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। वहीं 1 हजार 242 व्यक्तियों को कोरोना वायरस से बचाव की द्वितीय डोज लगाई गई।

कलक्टर की आमजन से कोरोना गाइडलाइन की पालना की अपील

जालोर के कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता व पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह ने प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता के दौरान जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना का स्ट्रैन बहुत तेजी से फैल रहा है और इसकी रोकथाम के लिए कोरोना वैक्सीनेशन ही प्रभावी भूमिका निभाएगी। टीकाकरण से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है लेकिन हमारे लिए जरूरी है कि हम टीकाकरण के बाद भी मास्क लगाकर रखें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और भीड़भाड़ वाली जगहों पर न जाए। गुप्ता ने कहा कि आमजन को सामाजिक एवं धार्मिक प्रतिनिधियों से प्रेरित करवाया जाएगा।

व्यापारिक प्रतिष्ठान रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगे

टीकाकरण से संबंधित कार्ययोजना बताते हुए जिला कलक्टर बोले कि हाल में जिला मुख्यालय पर एमसीएच व नेत्र चिकित्सालय में कोरोना वैक्सीनेशन हो रहा है और आगामी दिनों में वार्डवार कलस्टर बनाकर भी टीकाकरण किया जाएगा। जिले में व्यापारिक प्रतिष्ठानों को भी रात 10 बजे से सुबह छः बजे तक बंद रखा जाएगा। उन्होंने व्यापार मण्डल से अपील भी कि वे ‘नो मास्क-नो एन्ट्री’ की पालना सुनिश्चित कर कोरोना के विरूद्ध इस लड़ाई में प्रशासन का सहयोग दें।

गाइडलाइन की पालना नहीं करने पर 5 दुकानों पर कार्रवाई

जिला कलक्टर गुप्ता ने बताया ​कि कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने पर पिछले 3 दिन में 5 प्रतिष्ठानो पर कार्यवाही की जा चुकी है और आगे भी जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा इस प्रकार की कार्यवाही की जाएगी। सैंपलिंग के विषय पर बोलते हुए कलक्टर ने कहा कि प्रशासन द्वारा सैंपलिंग की दर नियमित रूप से बढ़ाई जा रही है। अधिकाधिक सैंपलिंग करने से ही संक्रमण का पता लगाया जा सकेगा और बचाव के उपाय किए जा सकेंगे।

जालोर में यह रहेगी गाइडलाइन

उन्होंने गाइडलाइन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों को राजस्थान में आगमन से पूर्व यात्रा प्रारम्भ करने के 72 घण्टे के अंदर करवाई गई आरटी-पीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। यदि कोई यात्री आरटी-पीसीआर नेगेटिव जांच प्रस्तुत करने में असमर्थ रहता है तो गंतव्य पर पहुंचने पर 15 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। जिले के शहरी सीमा क्षेत्र में कक्षा 1 से 9 तक की शैक्षणिक गतिविधियां इस अवधि के दौरान बंद रहेगी। कॉलेज के अंतिम वर्ष की कक्षा के अलावा शेष सभी यू.जी. व पी.जी. की नियमित कक्षा गतिविधियां बंद रहेगी किन्तु प्रायोगिक कक्षा के लिए विद्यार्थी लिखित अनुमति पश्चात् जा सकेंगे। शिक्षण संस्थान प्रधान/जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा किसी विद्यालय या कॉलेज को कोविड केस पाए जाने पर बंद किया जा सकेगा। नर्सिंग, पैरामेडिकल व मेडिकल कॉलेज पूर्व की भांति खुले रहेंगे। जिले में मनोरंजन पार्क, स्विमिंग पूल्स व जिम, मल्टीप्लेक्स एवं थियेटर को खोलने की अनुमति नहीं होगी। सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, सार्वजनिक व जन कार्यक्रमों में यह सुनिश्चित किया जाए कि बंद स्थानों में हॉल क्षमता की 50 प्रतिशत क्षमता तक, अधिकतम 100 व्यक्तियों की सीलिंग रखते हुए ही व्यक्ति अनुमत किए जाएं। साथ ही खुले स्थानों में मैदान या जगह के आकार को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक व्यक्ति 6 फीट की दूरी (2 गज की दूरी) संधारित करेगा तथापि 1 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में 100 व्यक्तियों की सीलिंग रखी जाए। वहीं धार्मिक स्थलों द्वारा भी इन दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। रेस्टोरेंट में रात्रिकालीन कर्फ्यू की पालना सुनिश्चित करनी होगी किन्तु रेस्टोरन्ट से टेक—अवे एवं डिलीवरी पर यह लागू नहीं होगी। विवाह संबंधी आयोजनों में यह सुनिश्चित किया जायेगा कि आमंत्रित मेहमानों (अतिथियों) की संख्या 100 से अधिक नहीं होगी। विवाह आयोजनकर्ता द्वारा समारोह की वीडियोग्राफी करवाई जायेगी एवं संबंधित उपखण्ड अधिकारी द्वारा मांगने पर उपलब्ध करवानी होगी। यदि कोई मैरिज गार्डन या स्थान कोविड-19 प्रोटोकॉल के प्रावधानों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसको प्रचलित विधियों के अंतर्गत सील कर दिया जाएगा। यदि किसी व्यक्ति, संस्थान या प्रतिष्ठान द्वारा उक्त दिशा-निर्देशों की अवहेलना की जायेगी तो राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत सीलिंग करने अथवा शास्ती लगाने की कार्यवाही की जाएगी।

लापरवाही करने पर पुलिस प्रशासन सख्ती व कार्रवाई करेगा

पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं किए जाने पर पुलिस प्रशासन द्वारा सख्ती की जाकर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन सख्ती बरतते हुए जिले में गाइडलाइन की पालना नहीं करने के संबंध में अब तक 248 कार्यवाही कर चुका है। कार्यवाही करने का का मुख्य कारण भी कोरोना के खिलाफ लडाई के लिए आमजन में जनजागरूकता लाना है। उन्होंने कहा कि पुलिस के साथ-साथ आमजन द्वारा जागरूक रहने से इस वैश्विक महामारी से लड़ा जा सकता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.