Jalore : निजी विद्यालय संघ ने सरकार के निर्णयों पर जताया आक्रोश, सौंपा ज्ञापन

Jalore : निजी विद्यालय संघ ने सरकार के निर्णयों पर जताया आक्रोश, सौंपा ज्ञापन
Spread the love


  • कलक्ट्रेट के बाहर हुए जमा निजी शिक्षक, की नारेबाजी

जालोर

स्कूल शिक्षा परिवार जिला जालोर एवं गैर सहायता एवं गैर रियायत प्राप्त निजी शिक्षण संस्थान संघ ने विभिन्न समस्याओं को लेकर आक्रोश जताते हुए कलक्टर के मार्फत मुयमंत्री को ज्ञापन भेजा। इससे पूर्व सभी शिक्षक कलक्ट्रेट के बाहर एकत्र हुए और जमकर नारेबाजी की।

ज्ञापन में ऑन लाइन एजुकेशन बंद करने के बारे में अवगत करवाया। ज्ञापन में बताया गया है कि कोरोना काल में सरकार के निर्णयों से लगातार निजी विद्यालय संकट झेल रहे है। दूसरी तरफ स्कूल फीस पर रोक से हालात विकट हो रहे है। जिससे शिक्षकों के सामने आर्थिक तंगी और परिवार का गुजर बसर भी मुश्किल हो रहा है, लेकिन सरकारी स्तर पर किसी तरह की सहायता नहीं मिल रही। ज्ञापन में बताया गया है कि वर्तमान हालात में बिना वेतन दीपावली मनाने को लेकर भी संशय की स्थिति है।

दूसरी तरफ सरकारी स्तर से अब तक फीस वसूली को लेकर किसी तरह के स्पष्ट निर्देश नहीं मिल रहे। ज्ञापन में चेताया गया है कि यदि समय रहते मांगों पर अमल नहीं किया गया तो कर्मचारी अपने परिजनों सहित सडक़ों पर उतरने को विवश होंगे। ज्ञापन में 17 नवबर से कक्षा 6 से 12 तक के स्कूल खोलने, शिक्षा विभाग में गार्रंटी के तौर पर स्कूलों की जमा एफडी एवं बालिका शिक्षा फाउंडेशन की राशि तीन सालों में जमा कराने की शर्त पर राहत के तौर पर लौटाने, आरटीई का भुगतान दीपावली से पूर्व करने, स्कूल खुलने पर न्यू एडमिशन के लिए आरटीई पोर्टल पुन: खोलने समेत अन्य मांगें की गई। चेताया गया है कि मांगों पर अमल नहीं होने पर 5 नवंबर से शटडाउन एवं परिजनों के साथ सडक़ों पर उतरने को मजबूर होंंगे। इस दौरान ललित कुमार शर्मा, नेमीचंद रावल, बलवंत सारन, दिनेश दव, दिगंबर सिंह जोधा, जीवाराम चौधरी समेत कई जने मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.