JusticeForAyesha : सामने आया आरिफ को आयशा का लिखा खत, शुरुआत में लिखा ”माय लव आरु…”

JusticeForAyesha : सामने आया आरिफ को आयशा का लिखा खत, शुरुआत में लिखा ”माय लव आरु…”
Spread the love


जालोर/अहमदाबाद

‘मुझे माफ कर देना, हो सके तो, एक रिक्वेस्ट है प्लीज इतनी नफरत मत करो, कई सारी बातें हैं जो मैंने नहीं कही…’ अहमदाबाद की आयशा ने सुइसाइड से पहले अपने पति आरिफ तो कथित तौर पर एक पत्र लिखा था लेकिन उसे भेजा नहीं था। यह पत्र हिंग्लिश में लिखा गया है जिसे आयशा के पिता ने पुलिस को सौंप दिया है। बता दें कि पिछले दिनों अहमदाबाद में 23 साल की आयशा ने साबरमती नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली थी।

आत्महत्या से पहले उसने एक वीडियो भी बनाया था जिसमें वह हंसते हुए विदा हो रही थी। आयशा ने लेटर में आरिफ को संबोधित करते हुए लिखा था, ‘माय लव आरु’। आयशा ने पत्र में एक और शख्स आसिफ का जिक्र किया जिसे वह बेस्ट फ्रेंड और बेस्ट भाई बोला। आयशा ने लिखा कि आरिफ अपनी हरकतों पर पर्दा डालने के लिए अक्सर उसका नाम आसिफ से जोड़ता था।

‘बस एक बार प्यार से बात कर लेते तो…’

आयशा आगे लिखती है अगर आरिफ सिर्फ एक बार उससे प्यार से बात कर लेता तो सारा कंफ्यूजन दूर हो जाता, लेकिन आरिफ के पास उसके लिए वक्त नहीं था। लेटर से पता चलता है कि आरिफ अक्सर खुद में व्यस्त था और आयशा की बातें सुनना उसे समय की बर्बादी लगती थी। आयशा को लगता था कि आरिफ उससे खीज गया है क्योंकि वह उसके बारे में गलत सोच रखता है।

‘इतना सब होने के बाद भी तुमसे प्यार करती हूं’

आयशा में लेटर में कई बार लिखा है कि वह आरिफ से बहुत प्यार करती है। आयशा ने लिखा, ‘आरु, नाराज हूं तुमसे, बहुत नाराज हूं, धोखा दिया तुमने मुझे इतना सबकुछ होने के बाद भी मैं फिर भी प्यार करती हूं, बहुत करती हूं, मैं तुम्हारा अलावा किसी और की नहीं हो सकती। सो मैंने सोच लिया चली जाऊं यहां से, यहां न मेरे कुरान की इज्जत है न मेरे इमान की।’

‘चार दिन तक खाना नहीं खाया, तुम पूछने नहीं आए’

आयशा ने पत्र में लिखा कि वह चार दिन तक अकेले कमरे में बिना खाने और पानी के रही लेकिन आरिफ उसे देखने तक नहीं आया और जब वह आया तो उसने उसकी पिटाई की और खुद को भी चोट लगी। आयशा ने लिखा कि आरिफ उसे इग्नोर करता था, चोट पहुंचाता था, अपमान करता था लेकिन भूल जाता था कि उसका भी पत्नी के रूप में उस पर हक है।

‘तुमने हंसती खेलती 2 जिंदगियां बर्बाद कीं’

आयशा ने लेटर के आखिर में लिखा, ‘मैंने कभी धोखा नहीं किया है। हंसती-खेलती 2 जिंदगियां बर्बाद हो गई हैं। मैं गलत नहीं थी, गलत आपका स्वभाव था। एक बात कहूं मैं आज भी तुम्हारी आंखों पर फिदा हूं, क्यों, ये मैं आपको अगले जन्म में बताऊंगी। लव यू आपकी पत्नी आयशा।’

परिवार ने पुलिस को सौंपा लेटर

अहमदाबाद मिरर से बात करते हुए आयशा के पिता और वकील जफर खान ने कहा, ‘पुलिस ने परिवार को किसी तरह का लेटर ढूंढने को कहा था जो आयशा ने लिखा हो और यह लेटर एक किताब के बीच में रखा हुआ था जिसमें उसके पति का नाम था। हमने इसे पुलिस को दे दिया।’ शनिवार को आरिफ की पुलिस रिमांड खत्म हो गई। अब उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

 

 

 

 

Source Link

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.