सरकार के खिलाफ मंत्री पुत्र की पोस्ट ने चौंकाया: लिखा बहुत दुखी और शर्मिंदा हूं कि मैं राजस्थान सरकार के एक सम्मानीय मंत्री का पुत्र हूं

सरकार के खिलाफ मंत्री पुत्र की पोस्ट ने चौंकाया: लिखा बहुत दुखी और शर्मिंदा हूं कि मैं राजस्थान सरकार के एक सम्मानीय मंत्री का पुत्र हूं
Spread the love


  • -सांचौर निवासी वन एवं पर्यावरण मंत्री के पुत्र का सोशल मीडिया के मार्फत सरकार पर हमला
Minister's son's post against government shocked: wrote: I am very sad and ashamed that I am the son of a respected minister of Rajasthan government
Minister’s son’s post against government shocked: wrote: I am very sad and ashamed that I am the son of a respected minister of Rajasthan government

जालोर. इन दिनों सांचौर विधायक और वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई के पुत्र डॉ. भूपेंद्र विश्नोई की सोशल मीडिया पर एक पोस्ट खासी चर्चा का विषय बनी हुई है। यह पोस्ट सीधे तौर पर मंत्री और सरकार पर निशाना साध रही है।

यह पोस्ट बाड़मेर जिले के भाडखा निंबला थुंबली सरहद में चिंकारा हरिण शिकार प्रकरण से जुड़ी है। जिसका धरना शुक्रवार को समाप्त हो चुका है, लेकिन इस वायरल पोस्ट में डॉ. विश्नोई ने सीधे तौर पर सरकारी सिस्टम पर तंज कसा है और इसमें बकायदा मंत्री पर भी कमेंट किया है। इस पोस्ट पर मंत्रीर के पुत्र और मंत्री की खिंचाई भी हो रही है। सियासी गलियारों मेे भी इस पोस्ट को लेकर खासी चर्चाएं चल रही है।

यह पोस्ट डाली जो बनी चर्चा का विषय

Minister's son's post against government shocked: wrote: I am very sad and ashamed that I am the son of a respected minister of Rajasthan government
Minister’s son’s post against government shocked: wrote: I am very sad and ashamed that I am the son of a respected minister of Rajasthan government

डॉ. विश्नोई ने ‘मुझे गर्व है कि मैं विश्नोई हूं, लेकिन बहुत दुखी और शर्मिंदा हूं कि मैं राजस्थान सरकार के एक सम्मानीय मंत्री का पुत्र हूं और हम शिकारियों या किसी वन विभाग का कोई अधिकारी, कर्मचारी को जो ऐसे कृत्य में शामिल होता है, उनको सजा नहीं दिलवा पा रहे हैं, कई बार अपनी अंतरात्मा को सुना, लेकिन निर्णय नहीं ले सका, लेकिन आज किसी दोस्त, रिश्तेदार यहां तक की परिवार से भी बिना सलाह मशविरा किए एक निर्णय ले रहा हूं, गुरु महाराज से प्रार्थना करता हूं कि वो मेरी मदद करेंगे। साथियों 11 दिसंबर को बाड़मेर भडाला में मेरे समाज के युवा जो धरने पर बैठे हैं, उनका साथ देने और जो उनकी वाजिब मांगें है, उनके पक्ष में धरना स्थल पर भूख हड़ताल पर बैठूंगा।Ó

इनका कहना

मुझे पूरे प्रकरण की जानकारी नहीं थी। मैंने मंत्री और सरकार के खिलाफ नहीं बोला, जो अधिकारी गलत  कर रहे थे, उनके खिलाफ धरने की चेतावनी दी थी।

– डॉ. भूपेंद्र विश्नोई

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.