नीतीश ने संन्यास का किया ऐलान- भाजपा ने किया समर्थन, वहीं कांग्रेस-आरजेडी ने किया हमला

नीतीश ने संन्यास का किया ऐलान- भाजपा ने किया समर्थन, वहीं कांग्रेस-आरजेडी ने किया हमला
Spread the love


पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में प्रचार के आखिरी दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने चुनावी राजनीति से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. गुरुवार को पूर्णिया में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा, “जान लीजिए आज चुनाव का आखिरी दिन है. और परसों चुनाव है. यह मेरा अंतिम चुनाव है. अंत भला तो सब भला.” नीतीश के इस ऐलान के बाद जहां भाजपा (BJP) ने उनका समर्थन किया है. वहीं कांग्रेस(Congress), आरजेडी (RJD) और चिराग पासवान (Chirag paswan) ने उनपर हमला बोला है.

नीतीश जी ने दिल की बात  की

भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraaj Singh) ने कहा, “नीतीश जी ने दिल की बात की है, राजनीति में भी एक शुचिता होनी चाहिए. जैसे BJP ने तय किया है कि 75 वर्ष की उम्र से अधिक चुनाव नहीं लड़ेंगे. नीतीश कुमार अभी 71 वर्ष के हैं. वैसे अभी कई लोग जेल में बैठकर भी टिकट बांट रहे हैं और वो 76 वर्ष पार कर चुके हैं.”

मुख्यमंत्री ने हार मानी: कांग्रेस

मुख्यमंत्री के ऐलान के बाद कांग्रेस ने कहा कि तीसरे चरण के मतदान से पहले ही हार मान ली है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा, “नीतीश जी ने चुनाव के तीसरे चरण में वोट डालने से पहले ही इस चुनाव को अपना आखिरी चुनाव बोलकर NDA की हार स्वीकार कर ली है. उन्होंने अब रिटायरमेंट की घोषणा भी कर दी है वो बिहार को कभी हरा नहीं पाएंगे. बिहार महागठबंधन के साथ फिर जीतेगा.”

मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, “अच्छा होता कि नीतीश जी और सुशील मोदी जी बिहार की जनता से बिहार को बदहाली की कगार पर लाकर खड़ा करने के लिए मांफी मांग कर रिटायरमेंट लेते.”

 जेडीयू का कोई अस्तित्व नहीं बचा  

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने कहा, “अगर रणभूमि से नेता ही गद्दी छोड़ कर भाग जाए तो बाकी के लोग क्या करेंगे? अब JDU का कोई अस्तित्व नहीं बचा है. अगर नीतीश कुमार जी ये सोच रहे हैं कि ये घोषणा करके वो जांच की आंच से बच जाएंगे तो ये मैं होने नहीं दूंगा.”

नीतीश जी थक गए है

आरजेडी नेता और महागाठबंधन के मुख्यमंत्री के प्रत्याशी तेजस्वी यादव (Tejasvi Yadav) ने कहा, “मैं जो बात पहले से कहता रहा हूं कि नीतीश कुमार जी थक चुके हैं, उनसे बिहार संभल नहीं रहा है. वो जमीनी हकीकत को पहचान नहीं पाए और जब उन्हें अहसास हुआ तो उन्होंने संन्यास लेने की घोषणा कर दी.”

ज्ञात जो कि बिहार विधानसभा चुनाव आखिरी चरण में पहुंच गया है. गुरुवार को प्रचार का आखरी दिन था. जिसके बाद सात नवंबर को तीसरे चरण की 78 सीटों पर मतदान किया जाएगा. इसके पहले 28 अक्टूबर और तीन नवंबर को क्रमशः पहले और दूसरे चरण का मतदान हो चुका है. वहीं 10 नवंबर को परिणाम आएंगे.

Source link

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.