डकैत केशव को पकड़ने के लिए पुलिस ने बिछाया जाल, फायरिंग हुई और बच कर भाग निकला

डकैत केशव को पकड़ने के लिए पुलिस ने बिछाया जाल, फायरिंग हुई और बच कर भाग निकला
Spread the love


  • विवार रात को 1 बजे धौलपुर जिले के बाड़ी इलाके में पुलिस और डकैत केशव के बीच हुई मुठभेड़

  • डकैत केशव पर हत्या, लूट रंगदारी के 18 से ज्यादा मामले दर्ज है, उस पर 1 लाख रुपए का इनाम है

  • डकैत के आने की पहले ही पुलिस को थी सूचना, तैयारी भी की; फिर भी केशव को पकड़ नहीं पाई

धौलपुर

धौलपुर जिले में रविवार रात पुलिस और डकैत केशव गुर्जर के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान पुलिस ने 60 से ज्यादा राउंड फायर किए। फायरिंग के बीच ही डकैत अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहा। डकैत को पकड़ने के लिए पुलिस ने जो चक्रव्यूह बनाया था वह फेल हो गया। दो महीने में यह दूसरा मौका है जब केशव पुलिस से बच निकला है।

फायरिंग बंद होने के बाद पुलिस ने सर्च अभियान चलाया तो मौके से पुलिस को खून के कुछ निशान मिले हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस फायरिंग में डकैत केशव गुर्जर और उसके भाई के गोली लगी है। धौलपुर एसपी केसर सिंह शेखावत के नेतृत्व में पुलिस की 12 टीमें बीहड़ों में सर्च अभियान चला रही है। मुठभेड़ रात 12 बजे से हुई थी, तभी से अभियान चल रहा है।

मजदूर बनकर निर्माण स्थल पर तैनात थे कमांडो

  • एसपी केसर सिंह ने बताया कि बाड़ी के पगुली गांव में बिजली घर बन रहा है। डकैत केशव ने ठेकेदार से निर्माण के एवज में चौथ (रंगदारी) मांगी थी। डकैत ने धमकी दी थी कि अगर रुपए नहीं दिए तो शनिवार रात आकर वह निर्माण को तोड़ देगा। यह खबर पुलिस को मिल गई। इसके बाद पुलिस ने डकैत को पकड़ने के लिए प्लानिंग की। पुलिस के कमांडो को बिजली घर के अंदर ही मजदूर बनाकर तैनात कर दिया गया।
  • रात करीब एक बजे डकैत केशव अपने भाई और कुछ साथियों के पास बिजली घर पहुंचा। यहां गेट पर चौकीदार और मजदूरों की हलचल नहीं देखकर उसे कुछ शक हुआ। उसने अपने एक आदमी को अंदर भेजा और खुद गेट पर ही साथियों के साथ खड़ा रहा।
    एक डकैत अंदर जा रहा था। इसी दौरान उसने दहशत फैलाने के लिए फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस टीम ने भी ताबड़तोड़ फायरिंग की। इससे केशव अपने साथियों के साथ अंधेरे का फायदा उठाकर वहां से भाग निकला। एसपी ने बताया कि जिस रास्ते से डकैत भागे हैं, उसमें काफी दूर तक खून गिरा हुआ है।
  • एसपी ने बताया कि खून से यह साफ है कि केशव और उसके साथियों को गोली लगी है। पुलिस ने कहा कि डकैत को पकड़ने के लिए कॉबिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है। करौली, मध्यप्रदेश पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है। आशंका है कि डकैत इलाज के लिए आसपास के अस्पतालों में जा सकता है। इसलिए, वहां भी तलाशी ली जा रही है।

दो महीने पहले भी हुई थी फायरिंग

करीब दो महीने पहले भी पुलिस और डकैत केशव गुर्जर के बीच फायरिंग हुई थी। जिसमें सदर थाने में तैनात कांस्टेबल अवधेश शर्मा को गोली लगी थी। जिसके बाद पुलिस ने एक महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया था।

करीब 18 मामले दर्ज

डकैत केशव गुर्जर लंबे समय से पुलिस की रडार पर है। तीनों राज्यों में केशव पर हत्या, लूट अपहरण जैसे 18 मामले दर्ज हैं। उस पर एमपी, यूपी और राजस्थान में कुल 1 लाख का इनाम घोषित है। गौरतलब है कि जिले में दस्यु उन्मूलन अभियान चलाया जा रहा है। करीब 5 महीने पहले केशव गुर्जर को हथियार एवं राशन सामग्री पहुंचाने वाले 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.