सिरोही में पत्रकार गणपतसिंह के विरुद्ध दर्ज मामले में प्रदर्शन, जताया विरोध

सिरोही में पत्रकार गणपतसिंह के विरुद्ध दर्ज मामले में प्रदर्शन, जताया विरोध
Spread the love


  • मुंह पर काली पट्टी बांधकर ज्ञापन सौंपने पहुंचे पत्रकार

सिरोही

सिरोही नगरपरिषद सभापति की ओर से एक पत्रकार के विरुद्ध किए झूठे मुकदमे को लेकर जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया गया। सबसे पहले जिले भर के मीडियाकर्मी मुंह पर काली पट्टी बांधकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां कलेक्टर कार्यालय के बाहर नारेबाजी करते हुए जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद को प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन देते समय पत्रकारों ने बताया कि लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ माने जाने मीडिया को डराने की साजिश के तहत यह पूरा षडयंत्र रचा गया हैं। पत्रकार गणपतसिंह मांडोली की ओर से पुलिस महकमे की नाकामियों को लेकर एक के बाद एक खबरें प्रकाशित की गई। वहीं सभापति महेंद्र मेवाड़ा के अवैध धंधों को लेकर भी पत्रकार गणपतसिंह मांडोली ने खबरें चलाकर इनके काले कारनामे जनता के सामने लाए थे। जिससे तिलमिलाए पुलिस के आलाधिकारी व नगरपरिषद के सभापति ने सांठगांठ कर फर्जी मुकदमा दर्ज कर पत्रकारों को डराने की कोशिश की जा रही हैं जो सभ्य समाज को स्वीकार्य नहीं हैं। मीडियाकर्मियों ने मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में मांग करते हुए लिखा कि पुलिस और सभापति द्वारा रचे गए इस षड्यंत्र की जांच सीआईडी सीबी से करवाई जाए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

पत्रकारों की ओर से किए गए विरोध प्रदर्शन के बाद जिले भर से आए लोगों ने भी पत्रकारों का समर्थन करते हुए नेता और अधिकारी के इस षडयंत्र के विरुद्ध प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एडीएम गीतेश श्रीमलवीय को एक ज्ञापन सौंपा। बड़ी संख्या में लोग जब ज्ञापन देने के लिए एडीएम कार्यालय के बाहर पहुंचे तो एडीएम उनका ज्ञापन लेने के लिए बाहर नहीं आए।

जिससे नाराज लोगों ने एडीएम कार्यालय के बाहर ही धरना शुरू कर दिया। साथ ही प्रशासन के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी। जिस पर थोड़ी ही देर में एडीएम ने बाहर आकर ज्ञापन लिया। साथ ही कहा कि जनता जनार्दन के आदेश पर तो वो कार्यालय से बाहर तो क्या बस स्टैंड आकर भी ज्ञापन लेने को तैयार हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.