देशवासियों का ध्यान राजस्थान की सांस्कृतिक विरासत की ओर आकर्षित करने की योजना: डॉ. कल्ला

देशवासियों का ध्यान राजस्थान की सांस्कृतिक विरासत की ओर आकर्षित करने की योजना: डॉ. कल्ला
Spread the love


मथुरा

ब्रजभूमि में राजस्थान सरकार की प्राचीन धरोहर का हाल देखने के लिए बुधवार को राजस्थान के कला साहित्य एवं संस्कृति मंत्री डॉ बीडी कल्ला वृंदावन पहुंचे। उन्होंने यहां के सबसे प्राचीन मंदिरों में शुमार श्रीगोविंद देव मंदिर के साथ जयपुर मंदिर को भी देखा। इसके पहले उन्होंने बरसाना में भी जयपुर मंदिर की स्थिति का जायजा लिया।

ब्रजभूमि में राजस्थान सरकारी की बड़ी संख्या में प्राचीन धरोहर मंदिर, सरोवर, कुंड के रूप में मौजूद है। इसकी देखरेख भी राजस्थान सरकार का देवस्थान विभाग या फिर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा की जाती है। इन प्राचीन स्थलों तक पर्यटकों को पहुंचाने और प्राचीन धरोहर को नष्ट होने से बचाने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा सर्वे किया जा रहा है।

इसी प्रक्रिया में बुधवार को वृंदावन आए विभागीय मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने श्रीगोविंद देव और जयपुर मंदिर का निरीक्षण किया। यहां की स्थिति को देखने के बाद दोनों मंदिरों की आवश्यकताओं के संदर्भ में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी प्राचीन धरोहर तक देश वासियों को अधिक संख्या में पहुंचाने और उसके उचित संरक्षण के लिए सर्वे कर रही है। इसी प्रक्रिया में बरसाना स्थित जयपुर मंदिर का भी निरीक्षण किया है। उन्होंने कहा कि वृंदावन का गोविंद देव मंदिर वास्तु व स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है। लाल पत्थरों से बना यह मंदिर जयपुर के राजा मानसिंह ने बनवाया था।

Source link

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.