रामसीन थाना प्रभारी पर मिलीभगती का आरोप, 2 दिन में पकड़ा मुख्य आरोपी तो पहले क्यों सोते रहे?

रामसीन थाना प्रभारी पर मिलीभगती का आरोप, 2 दिन में पकड़ा मुख्य आरोपी तो पहले क्यों सोते रहे?
Spread the love


  • युवती के अपहरण और विधवा द्वारा आत्महत्या करने के प्रकरण में पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान

भीनमाल. रामसीन थाना प्रभारी गिरधरसिंह पर अब भी गंभीर आरोपों लगने का दौर थमा नहीं है। थूर में विधवा महिला द्वारा आत्महत्या और युवती के अपहरण के मामले में थाना प्रभारी की भूमिका पर सवालिया निशान है। इस बीच पुलिस ने प्रकरण में मुख्य आरोपी हड़मतसिंह को पकड़ लिया, लेकिन उसके साथ ही आरोप और भी गहरा गए।

सवाल यह है कि इससे पूर्व 7 दिन तक महिला बेटी के अपहरण के मामले में पुलिस से गुहार लगाती रही, लेकिन थाना प्रभारी ने अनसुना कर दिया, लेकिन अब दो ही दिन में मुख्य आरोपी को पकड़ लिया गया। सीधे तौर पर कार्यप्रणाली पर कई सवाल उठ रहे हैं और कई पेंच भी है, जिस पर जांच के साथ यहां तैनात स्टाफ पर कार्रवाई की दरकार है। अब देखने वाली बात यह अहम होगी कि एसपी मामले में आरोपी थाना प्रभारी के खिलाफ कब कार्रवाई करते हैं, क्योंकि इस थाना प्रभारी का कार्यकाल लगभग सभी थाना क्षेत्रों में विवादित रहा और आरोप भी लगते रहे हैं।

मांग थाना प्रभारी को निलंबित करो

परिजन नाबालिग को बरामद करने, आरोपियों को गिरफ्तार करने व रामसीन थानाधिकारी को निलम्बित करने की मांग को लेकर अड़े हुए है। इधर, धरनास्थल पर बुधवार को बड़ी संख्या में लोग पहुंचते रहे। धरनास्थल के बाहर प्रशासन की ओर से बेरिकेटिंग भी करवाई गई। दिनभर माकूल पुलिस जाब्ता तैनात रहा। गौरतलब है कि थूर गांव में नाबालिग के अपहरण के क्षुब्ध विधवा ने केरोसीन उड़ेलकर आग लगा दी थी। झुलसी अवस्था में शहर के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती करवाया, जहां उसकी ईलाज के दौरान मौत हो गई। मृतका थूर निवासी हवियां कंवर (58) का शव शहर के राजकीय चिकित्सालय की मोर्चरी में रखा हुआ है।

 

मौत के बाद आक्रोशित हुए परिजन

मंगलवार सुबह महिला की मौत के बाद परिजन व ग्रामीण आक्रोशित हो गए। दोपहर बाद लोगों ने पुलिस पर कार्यवाही नहीं करने व राजीनामें का आरोप लगाते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी करने, नाबालिग को बरामद करने व रामसीन थानाधिकारी को निलम्बित करने की मांग करते हुए शव को नहीं उठाया। उपखण्ड कार्यालय के बाहर टेंट लगाकर धरना-प्रदर्शन शुरू किया। उन्होंने ज्ञापन में नाबालिग को दादाल निवासी हड़मतसिंह, शोभाकंवर पत्नी नरपतसिंह भगाकर ले गए। उसके बाद नाबालिग को महेन्द्रसिंह पुत्र पदमसिंह सुराणा को सुपुर्द की। थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद भी कार्यवाही नहीं हुई। आरोपियों ने मृतका को लड़की को नहीं देने व नाबालिक की अश्लील फाटो वायरल करने की धमकी भी दी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.