सांसद देवजी पटेल के गोद लिए गांव के ग्रामीण इतने परेशान कि चुनाव का ही कर दिया बहिष्कार

सांसद देवजी पटेल के गोद लिए गांव के ग्रामीण इतने परेशान कि चुनाव का ही कर दिया बहिष्कार
Spread the love


  • सिंचाई के लिए नर्मदा नहर का पानी नहीं मिलने से परेशान ग्रामीणों ने किया चुनाव बहिष्कार का निर्णय

जालोर

जालोर जिले में आज सभी पंचायत समितियों के चुनाव सम्पन्न हुए। ऐसे में कहीं भी कोई अप्रिय घटना घटित नहीं हुई। पंचायतीराज चुनाव के अंतिम चरण यानि चौथे चरण के तहत जिले की सांचौर और चितलवाना पंचायत समिति में आज चुनाव सम्पन्न हुए। लेकिन चितलवाना क्षेत्र के होतीगांव में लोगों ने चुनाव का बहिष्कार किया, जिसके चलते एक भी ग्रामीण वोट करने के लिए बूथ पर नहीं पहुंचा।

होतीगांव यह वही गांव है जो पिछले काफी सालों से किसी न किसी समस्या को लेकर चर्चा में आता रहता है, क्योंकि होतीगांव को जालोर-सिरोही सांसद देवजी पटेल ने गोद ले रखा है और यहां के ग्रामीण आज भी विभिन्न समस्याओं से त्रस्त है। हालांकि इस बार होतीगांव के ग्रामीणों ने चुनाव का बहिष्कार किया है उसका कारण नर्मदा नहर से सिंचाई के लिए पानी नहीं मिलना है।

इससे पहले भी यह गांव मूलभूत सुविधाओं के अभाव के कारण अखबारों में छपता रहा है। कभी बिजली कनेक्शन तो कभी सडक़ों का अभाव या फिर पेयजल समस्या, जिसके कारण यहां ग्रामीण परेशान है। ग्रामीणों से सांसद के बारे में पूछे जाने पर यही बताया जाता है कि सांसद सिर्फ चुनावी सीजन में ही यहां दिखते है, लेकिन अब तो चुनावी मौसम में भी वे नजर नहीं आते।

चुनाव बहिष्कार चिंताजनक

होतीगांव के ग्रामीणों ने जिस तरह से चुनाव का बहिष्कार किया है, उससे यह जाहिर होता है कि हालात कितने परेशान करने वाले होंगे तब जाकर ग्रामीणों ने ऐसा कदम उठाया है। हालांकि ग्रामीणों से मतदान करने के लिए अधिकारियों ने काफी समझाइश भी की, लेकिन यह प्रयास सफल नहीं हो पाया। कई ग्रामीणों ने बताया कि सांसद के गोद लिए इस गांव में सिंचाई के लिए पानी की समस्या के अलावा भी इतनी समस्याएं है जिनको लेकर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन सौंपकर थक चुके है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.