अंधविश्वास : आत्मा की मुक्ति के लिए तलवार और जोत लेकर अस्पताल पहुंचे

अंधविश्वास : आत्मा की मुक्ति के लिए तलवार और जोत लेकर अस्पताल पहुंचे
Spread the love


राजस्थान भारती. जोधपुर

जोधपुर (Jodhpur) शहर के मथुरादास अस्पताल (MDM Hospital) में शुक्रवार रात के अजीबो—गरीब घटना घटित हुई। यह घटना पूरे राजस्थान में चर्चा का विषय बन गई है। यह घटना अंधविश्वास (Superstition) के कारण घटित हुई। दरअसल, शुक्रवार रात को दो व्यक्ति अपने हाथ में तलवार और जोत लेकर मथुरादास अस्पताल (MDM Hospital) पहुंचे।

ऐसा देख वहां मौजूद लोग और ड्यूटी पर तैनात गार्ड अचंभित रह गए। गार्ड ने हिम्मत जुटाते हुए दोनों से पूछा तो उन्होंने भी अजीब वजह बताई। उन्होंने बताया कि वे अपने बेटे की आत्मा को लेने आए है।

इस पर गार्ड शेरसिंह ने उन्हें ट्रोमा सेंटर में घुसने से रोका और इसकी सूचना पुलिस चौकी में दी और इन्हें पकड़ लिया गया है। शास्त्री नगर थानाधिकारी राजेंद्रसिंह राजपुरोहित ने बताया कि पाली के जाडन निवासी भंवरलाल पुत्र नाथूराम व भूपतराम पुत्र पुरुषोत्तम भाट को मामले में गिरफ्तार किया है। आर्म्स एक्ट में मुकदमा भी दर्ज किया है। इनके साथ दो और लोग थे, जो भाग में कामयाब रहे है।

य​​ह था कारण

तांत्रिक ने इस परिवार के कष्टों का कारण उनके बच्चे की भटकती आत्मा को बताया। इस परिवार के बच्चे की दो साल पहले की मथुरादास अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। उसके बाद से ही परिवार में कष्ट शुरू हुए।

जिसके बाद ये सभी एक भोपे के पास गए। जहां तांत्रिक ने आत्मा की मुक्ति के लिए तंत्र-मंत्र करके अस्पताल से आत्मा को घर तक लाने के लिए कहा। उसके बाद उसकी मुक्ति होगी। तांत्रिक के झांसे में आने के बाद वे रात को दो तलवारें, नींबू, जोत और टोटके के सामान लेकर मथुरादास माथुर अस्पताल पहुंचे थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.