चितौड़ का उज्ज्वल इसलिए निकला साइकिल पर 2 हजार किलोमीटर की यात्रा पर

चितौड़ का उज्ज्वल इसलिए निकला साइकिल पर 2 हजार किलोमीटर की यात्रा पर
Spread the love


– चितौडगढ़़ निवासी 23 वर्षीय युवा के जालोर पहुंचने पर स्वागत

जालोर. चितौडगढ़़ जिले के कपासन ब्रह्मपुरी का 23 वर्षीय युवा उज्ज्वल दाधीच 2 हजार किमी के लक्ष्य के साथ साइकिल पर निकला हैं। दाधीच अपनी साइकिल पर बुधवार शाम को जालोर पहुंचा। दाधीच आमजन को जागरूक करने के लिए 2 हजार किलोमीटर की साइकिल यात्रा का लक्ष्य लेकर घर से निकले हैं। अब तक 5 जिलों में घूम 800 किलोमीटर का सफर तय कर वे जालोर पहुंचे।

राइडर उज्जवल दाधीच ने कहा कि हमारे किले, महल, प्राचीन बावडिय़ा विश्व विरासत का अनमोल गहना है। उनके संरक्षण की जिम्मेदारी हर आमजन को उठानी चाहिए। राजस्थान के किले और यहां की जैव विविधता हमें भारत में एक अलग पहचान दिलाती है, ऐसे में इनका संरक्षण बेहद जरूरी है। आधुनिकीकरण के इस जमाने में हर आमजन मानसिक तनाव व प्रदूषण से परेशान है।

ऐसे में साइक्लिंग को तंदुरुस्त जीवन का सर्वश्रेष्ठ साधन मानता हूं। दाधीच ने जालोर नगर भ्रमण किया और इसके बाद आस-पास के गांव में एवं शहर के कुछ युवाओं से प्रकृति संरक्षण पर चर्चा की। उल्लेखनीय है कि इस उम्र में दाधीच को पक्षी एवं पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में योगदान पर पुरस्कृत किया जा चुका है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.