सिवाणा के ड्राइवर का अपहरण और हत्या का यह था कारण

सिवाणा के ड्राइवर का अपहरण और हत्या का यह था कारण
Spread the love


  • – थाना क्षेत्र में कुछ दिनों पूर्व एक ड्राइवर के अपहरण के मामले की पुलिस ने सुलझाई गुत्थी

जालोर. आहोर थाना क्षेत्र के निकट सिवाना के एक चालक का अपहरण और उसके बाद उसकी हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। मामला हवाला से जुड़ा हुआ है। आरोपियों ने 44 लाख रुपए का हवाला उड़ाया था और इसी की हिस्सेदारी को लेकर चालक की हत्या की गई थी। आरोपियों ने ड्राइवर का शव जोधपुर में कायलाना झील की हाथी नहर में पड़ा मिला। कुछ जनों द्वारा ड्राइवर का अपहरण करने के बाद उसकी गले में वायर डालकर हत्या कर दी गई तथा शव को कायलाना झील की हाथी नहर में फेंक दिया।

इससे पहले 21 मार्च को थाना क्षेत्र में महेन्द्र खान मुसलमान निवासी कुशीप तहसील सिवाना जिला बाड़मेर के अपहरण के मामले में कॉल डिटेल के आधार पर आरोपी बादनवाड़ी निवासी आनंदसिंह राजपुरोहित का अहम सुराग मिलने पर पुलिस टीम की ओर से उसे दस्तयाब कर पूछताछ की गई तो आरोपी ने गत 21 मार्च की रात्रि में महेन्द्र खान का अपहरण करने तथा हत्या करने की वारदात को स्वीकार किया तथा घटना कारित करने वाले अन्य चार साथियों के नाम बताए।

 

यह था मामला

गत 25 मार्च को प्रार्थी रमजान खान पुत्र खमीश खान जाति मुसलमान निवासी कुशीप तहसील सिवाना जिला बाड़मेर ने रिपोर्ट पेश की कि उसका भाई महेन्द्र खान पेशे से ड्राईवर है, जो 21 मार्च को दिन में घर से जालोर जाने का कह कर निकला था, उसके पास स्विफ्ट कार नम्बर जीजे 27 एएच 7953 साथ में थी। उसने गोदन से उसे फोन करके बताया कि वह एक घण्टे में सिवाना आ रहा है

लेकिन वह सिवाना नहीं आया और महेन्द्र खान की कार घुमती दिखाई दी लेकिन उसमें महेन्द्र खान नहीं दिखाई दिया। उसमें सुजल जैन व सुरेन्द्र भील थे, जिसका सन्देह होने पर उक्त गाड़ी का पीछा किया। निम्बलाना गांव की सरहद में गाड़ी के टायर पंक्चर होने पर सुजल जैन व सुरेन्द्र भील निम्बलाना गांव की सरहद में गाड़ी को छोड़ कर खेतों में भाग गए। जिस पर महेन्द्र खान का अपहरण कर हत्या करने का सन्देह होने पर थाना पर रिपोर्ट पेश की। जिस पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया।

कॉल डिटेल से वारदात का हुआ खुलासा

गठित टीमों को संदिग्ध आरोपी के मोबाइल नम्बरों की कॉल डिटेल प्राप्त की जाकर कॉल डिटेल के आधार पर आरोपी आनन्दसिंह राजपुरोहित निवासी बादनवाड़ी पुलिस थाना आहोर का अहम सुराग मिलने पर आरोपी आनन्दसिंह को बादनवाड़ी से दस्तयाब कर पूछताछ की गई तो आरोपी ने गत 21 मार्च की रात्रि मे महेन्द्र खान का अपहरण करने तथा हत्या करने की वारदात को स्वीकार किया तथा घटना कारित करने वाले अन्य चार साथियों के नाम बताए।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

गत 21 मार्च की रात्रि को प्रार्थी रमजान का भाई महेन्द्र खान अपने दोस्त सुजल जैन तथा सुरेन्द्र राणा के साथ बादनवाड़ी आए तथा सुजल जैन ने पहले से परिचित आनन्दसिंह को फोन कर बादनवाड़ी बुलाया और जालोर रोड पर स्थित भाविका होटल पर चाय पीने गए जहां पहले से अजयपालसिंह व एक अन्य व्यक्ति होटल पर मौजूद थे।

भाविका होटल से चाय पानी पीकर महेन्द्र खान व अजयपालसिंह, सुजल, सुरेन्द्र राणा तथा एक अन्य व्यक्ति महेन्द्र खान की स्विफ्ट गाड़ी में बैठकर बादनवाड़ी की तरफ रवाना हुए तथा आनन्दसिंह अपनी मोटर साईकिल लेकर बादनवाड़ी रवाना हुआ। आनन्दसिंह द्वारा मोटरसाईकिल घर पर रखकर महेन्द्रखां की स्विफ्ट में बैठ गया।

अजयपालसिंह उर्फ एपीसिंह, आनन्दसिंह, सुजल जैन, सुरेन्द्र राणा तथा एक अन्य व्यक्ति द्वारा बादनवाड़ी व मीठडी के बीच रास्ते में महेन्द्र खान के गले में वायर डाल कर उसकी हत्या कर दी तथा सभी ने लाश को इसी कार की डिक्की में डालकर हाथी नहर कायलाना झील में डालकर फरार हो गए।

वारदात को अंजाम देने वाले वांछित अभियुक्तों की तलाश जारी

अभियुक्त आनन्दसिंह से अनुसंधान के दौरान बादनवाड़ी में महेन्द्र खान का अपहरण कर हत्या करने की वारदात को अंजाम देने में सुजल जैन निवासी मोकलसर, सुरेन्द्र राणा निवासी सिवाना, अजयपालसिह उर्फ एपींिसंह केलावा जोधपुर द्वारा साथ दिया जाना पाया गया। गठित टीमों मय जाब्ता द्वारा वांछित चारों अभियुक्तगणों की गिरफ्तारी के लिए इनके निवास स्थान व संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.